अलर्ट/ 20 साल में ओडिशा से टकराने वाला सबसे खतरनाक तूफान होगा फैनी, 11 लाख लोग हटाए गए

0
219
  • ओडिशा के 14 जिले फैनी से प्रभावित होंगे; डॉक्टरों और पुलिस अधिकारियों की छुट्टियां रद्द
  • ओडिशा में 24 घंटे तक सभी उड़ानें रद्द, शुक्रवार रात से शनिवार शाम तक कोलकाता एयरपोर्ट बंद
  • मौसम विभाग की चेतावनी- फैनी काकेंद्र आगे बढ़ने के बावजूद बेफिक्र ना हों। भुवनेश्वर.ज्वाइंट टाईफून वॉर्निंग सेंटर (जेडब्ल्यूटीसी) के मुताबिकफैनी तूफान बीते 20 सालों मेंअब तक का सबसे खतरनाक चक्रवात साबित हो सकता है। ओडिशा में 1999 में आए सुपर साइक्लोन से करीब 10 हजार लोग मारे गए थे।भारतीय मौसम विभाग सूत्रों के मुताबिक पिछले 43 सालों में यह पहली बार है जब अप्रैल में भारत के आसपास मौजूद समुद्री क्षेत्र में ऐसा कोई चक्रवाती तूफान उठा है।

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि फैनी की फर्स्ट आर्म तटों से टकराने के बाद का वक्त ज्यादा ध्यान बरतने वाला होगा। साइक्लोन वॉर्निंग डिवीजन के प्रमुख मृत्युंजय मोहपात्रा ने बताया कि चक्रवाती तूफान का आई एरिया (केंद्र) करीब 30-40 किलोमीटर में होता है। इसके चारों तरफ के एरिया आर्म कहलाते हैं। तट से टकराने और इस आई एरिया के आगे बढ़ जाने के बाद बेपरवाह हो जाने कीप्रवृत्ति रहती है। लेकिन, इस आई एरिया के आगे बढ़ने के बाद दूसरी आर्म भी आती है जो कि पहली की तरह ही विनाशक हो सकती है।क्षेत्रीय मौसम विभाग के पूर्व निदेशक शरत साहू के मुताबिक- ओडिशा में 1893, 1914, 1917, 1982 और 1989 की गर्मियों में भी तूफान आए थे। लेकिन इस बार का चक्रवात बंगाल की खाड़ी के गर्म होने से बना है। लिहाजा यह ज्यादा खतरनाक हो सकता है।

  • सुबह 8-10 बजे के बीच गोपालपुर पहुंच जाएगा फैनी

    सूत्र के मुताबिक ओडिशा की ओर फैनी 16 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रहा है। यह शुक्रवार सुबह 8-10 बजे के बीच देवस्थान पुरी के पास स्थित गोपालपुर तक पहुंच जाएगा। पहले इसके पहुंचने का समयदोपहर 3 बजे माना जा रहा था। अधिकारियों के मुताबिक गुरुवार शाम तक15 जिलों के निचली इलाकों से करीब साढ़े 11 लाख लोगों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया।। चक्रवात से ओडिशा के 14 जिले प्रभावित होंगे
    चक्रवात दोपहर के आसपास पुरी पहुंचेगा। इसके बाद पश्चिम बंगाल कारुख करेगा। इसका असर आंध्रप्रदेश और तमिलनाडु के उत्तर-पूर्व इलाकों में भी दिखेगा। चक्रवात सेओडिशा के 14 जिले प्रभावित होंगे।इसमें पुरी, जगतसिंहपुर, केंद्रपारा, बालासोर, भदरक, गंजम, खुर्दा, जाजपुर, नयागढ़, कटक, गाजापटी, मयूरभंज, ढेंकानाल और कियोंझार शामिल हैं। इन जिलों के करीब 10 हजार गांव चक्रवात से प्रभावित होंगे।

    223 ट्रेनें रद्द, उड़ानें कैंसल

    रेलवे ने बताया कि भद्रक-विजय नगरम सेक्शन यानी ओडिशा के तटीय इलाकों की तरफ 223 ट्रेनें रद्द कर दी गई हैं। फंसे हुए पर्यटकों को वापस लाने के लिए 3 स्पेशल ट्रेनें चलाई गई हैं।भुवनेश्वर एयरपोर्ट से अगले 24 घंटे तक उड़ानें प्रतिबंधित रहेंगी।शुक्रवार रात से शनिवार शाम तक कोलकाता एयरपोर्ट बंद रहेगा। नागरिक विमानन मंत्री सुरेश प्रभु ने हर तरह की सतर्कता बरतने के आदेश दिए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here